Filed Under:  National

सेवानिवृत्त होने के बाद मीडिया से बात करते हुए चुनाव आयुक्त ओपी रावत ने कहा कि नोटबंदी से कालेधन पर कोई असर नहीं पडा।

2nd December 2018   ·   0 Comments

ख्य चुनाव आयुक्त के पद से शनिवार को सेवानिवृत हुए ओम प्रकाश रावत ने नोटबंदी को लेकर एक बड़ा बयान दिया है। रावत ने कहा है कि नोटबंदी से कालेधन पर अभी तक कोई भी फर्क नहीं पड़ा है। बता दें कि सेवानिवृत्त होने के बाद जब वे मीडिया से बात कर रहे थे तो एक सवाल के जवाब में ये बात कही। उन्होंने आगे कहा कि नोटबंदी के बाद कई राज्यों और निगमों के चुनाव में हमने रिकॉर्ड पैसों को जब्त किया है। यहां तक कि पांच राज्यों में हुए चुनाव में करीब 200 करोड़ रुपए जब्त किए। इससे यह जाहिर होता है कि कालेधन का स्त्रोत काफी प्रभावशाली है और इसलिए नोटबंदी का इसपर कोई भी असर नहीं दिखा।

आपको बता दें कि भारत के 22वें चुनाव आयुक्त रहे ओपी रावत शनिवार को सेवानिवृत्त हुए। रावत ने इसी वर्ष जनवरी में मुख्य चुनाव आयुक्त का पद संभाला था। रावत का कार्यकाल बहुत ही व्यस्त रहा क्योंकि इनके कार्यकाल में 9 राज्यों में चुनाव हुए या फिर हो रहे हैं। बता दें कि मध्य प्रदेश कैडर के आईएस अधिकारी रहे ओपी रावत ने सुनील अरोड़ा को अपना पदभार सौंपा है। एक सवाल के जवाब में रावत ने कहा कि उनके कार्यकाल में त्रिपुरा, मेघालय, नगालैंड, कर्नाटक में सफल चुनाव हुए जो कि उनके लिए एक उपलब्धि है। रावत ने आगे कहा कि मौजूदा समय में पांच राज्यों तेलंगाना, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान और मिजोरम में चुनाव हो रहे हैं या हो चुके हैं। इन राज्यों में अभी तक सबकुछ ठीक रहा है और उनका संकल्प था कि इन सभी राज्यों में स्वतंत्र, निष्पक्ष और विश्वसनीय चुनाव संपन्न हो।

By

Readers Comments (0)


Comments are closed.

Latest Articles