Filed Under:  Main Menu

हनुमानजी को दलित बताने पर योगी आदित्यनाथ को कानूनी नोटिस |

29th November 2018   ·   0 Comments

हनुमानजी को दलित एवं वंचित बताने पर सर्व ब्राह्मण महासभा ने योगी आदित्यनाथ को कानूनी नोटिस भेजा है।सर्व ब्राह्मण महासभा के अध्यक्ष पंडित सुरेश मिश्रा ने कहा कि योगी आदित्यनाथ हनुमान जी को दलित बताने पर तीन दिन के अंदर माफी मांगें, नहीं तो उनके खिलाफ कानूनी कार्यवाही की जाएगी।मिश्रा ने कहा कि आदित्यनाथ की ओर से हनुमानजी को दलित और वंचित बताने पर उन्हें बहुत आश्यर्च हुआ। उनके बयान ने हनुमान भक्तों की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाई है। यह चुनाव में राजनीतिक लाभ लेने का एक बड़ा प्रयास है।अलवर ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र के मालाखेड़ा कस्बे में 27 नवंबर को आयोजित सभा में योगी ने कहा था कि बजरंगबली ऐसे लोक देवता हैं जो स्वयं वनवासी हैं, गिरवासी हैं, दलित हैं वंचित है। भाजपा ने योगी के हनुमान की जाति पर दिए बयान से किनारा कर लिया। उत्तर प्रदेश के वरिष्ठ कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी ने कहा कि ये लोग वोट के लिए जाति को भी नही छोड़ते। तिवारी ने कहा कि यह तो सभी लोग जानते हैं कि भाजपा इंसान व समाज को बांटने का काम करती है। अब यह देखने को मिल रहा है कि भगवान को भी जाति के नाम पर बांटने पर आमादा है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जहां भी जाते हैं, भगवान की अलग-अलग जाति बताते हैं। योगी जब छत्तीसगढ़ गए तब भगवान हनुमान को आदिवासी बताया और अब राजस्थान आए तो भगवान हनुमान को दलित बता रहे हैं। इससे साबित होता है कि भाजपा यह चुनाव जनता से जुड़े मुद्दों पर लडऩा नहीं चाहती।

By

Readers Comments (0)


Comments are closed.

Latest Articles