Filed Under:  TOP NEWS

आरोप / मेरे अधिकार रातोंरात छीने गए, शायद जांच सरकार के मुताबिक नहीं चली: सीबीआई चीफ वर्मा

24th October 2018   ·   0 Comments

नई दिल्ली. सीबीआई के दो शीर्ष अफसरों के रिश्वतखोरी विवाद में फंसने के बाद केंद्र सरकार ने ज्वाइंट डायरेक्टर नागेश्वर राव को जांच एजेंसी का अंतरिम प्रमुख नियुक्त कर दिया। जांच जारी रहने तक सीबीआई चीफ आलोक वर्मा और नंबर दो अफसर स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना को छुट्टी पर भेज दिया गया। वर्मा ने सरकार के फैसले को चुनौती देते हुए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की। उन्होंने अदालत से कहा कि केंद्र सरकार ने रातोंरात उनके अधिकार छीन लिए। यह कदम सीबीआई की स्वतंत्रता में हस्तक्षेप है। वर्मा ने कहा कि शायद उच्च पदों पर बैठे लोगों के खिलाफ एजेंसी की जांच सरकार के मुताबिक नहीं चली।

 

सुप्रीम कोर्ट सरकार के फैसले पर रोक लगाए ताकि इस तरह का बाहरी हस्तक्षेप दोबारा ना हो। मौजूदा हालात के लिए जिम्मेदार कई केसों की जानकारी बेहद संवेदनशील है और मौजूदा याचिका में उनका पूरी तरह से खुलासा नहीं किया जा सकता। हालांकि, याचिकाकर्ता आगे इस अदालत को ये चीजें सौंप सकता है। अलग-अलग मामलों पर सरकार की तरफ से जो भी प्रभाव रहा, वह सभी मौकों पर स्पष्ट या लिखित में नहीं था।

आलोक वर्मा, सीबीआई डायरेक्टर

By

Readers Comments (0)


Comments are closed.

Latest Articles