Filed Under:  world News

नेपाल की अपनी यात्रा को ‘तीर्थयात्रा’ बताया: प्रणब मुखर्जी

4th November 2016   ·   0 Comments

नई दिल्ली।

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने नेपाल की अपनी यात्रा को ‘तीर्थयात्रा’ का नाम देते हुए शांति चाहने वाले भारत और नेपाल के लोगों के लिए पशुपतिनाथ मंदिर, वाराणसी और रामेश्वरम के महत्व को रेखांकित करते हुए दोनों देशों के बीच पुराने सांस्कृतिक संबंधों का उल्लेख किया। मुखर्जी का नागरिक अभिनंदन किया गया तथा काठमांडो के नगर निगम प्रमुख रूद्रसिंह तमांग ने शहर की चाबी उन्हें सौंपी। मुखर्जी ने आगंतुक पुस्तिका में लिखा कि काठमांडो न केवल नेपाल की राजनीतिक राजधानी बल्कि क्षेत्र के लोगों के लिए एक आध्यात्मिक केंद्र भी है।

पशुपतिनाथ मंदिर से की शुरुअात –

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी अभी नेपाल की तीन दिवसीय राजकीय यात्रा पर हैं। उन्होंने अपने दिन की शुरूआत ऐतिहासिक पशुपतिनाथ मंदिर में पूजा करके की। मंदिर में 108 बटुकों ने स्वस्ति मंत्रों के बीच उनका स्वागत किया गया । मुखर्जी ने मंदिर में रूद्राभिषेक किया।

शांति बनाए रखने का निर्देश –
नेपाल के प्रधानमंत्री पुष्प कमल दहल ‘प्रचंड’ सहित मौजूद अन्य लोगों को संबोधित करते हुए मुखर्जी ने कहा है कि, नेपाल की मेरी यात्रा एक तरह की तीर्थयात्रा भी है। यह दोनों देशों के बीच पहले से अधिक समझ और सहयोग को बढ़ाने के लिए मित्रता का एक मिशन है। जो हमेशा से कायम रहने व शांति बनाए रखने का निर्देश दिया हैं।

By

Readers Comments (0)


Comments are closed.

Latest Articles