Filed Under:  EDUCATION NEWS

लीगल स्टडीज में करिअर बनाना है तो क्लैट है बेस्ट,आवेदन की अंतिम तिथि 31 मार्च

29th October 2016   ·   0 Comments

अगर आप इंटर के बाद अपना करियर कानूनी पढ़ाई में बनाना चाहते हैं तो आपके लिए क्लैट सबसे सही आप्शन साबित हो सकता है। देश की 17 नेशनल लॉ यूनिवर्सिटीज में लॉ कोर्सेज के लिए एडमिशन प्रोसेस शुरू हो चुका है।
क्लैट-2016 एंट्रेस एग्जाम 8 मई को होगा। अगर आपने अब तक इसके लिए आवेदन नहीं किया है तो जल्दी करें। आवेदन करने की अंतिम तिथि 31 मार्च है। इस बार क्लैट का आयोजन राजीव गांधी नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ लॉ, पटियाला कर रहा है। सभी संस्थानों के यूजी कोर्स में 2252 और मास्टर कोर्स में 632 सीटें हैं। क्लैट के बारे में बता रहे हैं लॉ एक्सपर्ट डॉ. मनोज त्रिपाठी-
क्वालीफिकेशनः क्लैट के यूजी कोर्स के लिए इंटर में 45 फीसदी अंक चाहिएं। पीजी कोर्स के लिए 55 फीसदी अंकों के साथ लॉ की बैचलर डिग्री हो। एससी, एसटी छात्रों के लिए 50 फीसदी अंक जरूरी हैं। कैंडीडेट की उम्र 22 साल से ज्यादा नहीं होनी चाहिए।
फीस स्ट्रक्चरः सभी संस्थानों में अलग-अलग फीस निर्धारित है। नालसार यूनिवर्सिटी ऑफ लॉ, हैदराबाद में बीए एलएलबी की सालाना ट्यूशन फीस 1 लाख 15 हजार रुपए और एलएलएम की 65 हजार रुपए है। एनएलयू, कोलकाता में यूजी कोर्स की पहले सेमेस्टर की ट्यूशन फीस 73,200 रुपए और एलएलएम की 34 हजार रुपए है।
नेशनल लॉ यूनिवर्सिटीज में प्रवेश के लिए कॉमन लॉ एडमिशन टेस्ट की शुरुआत 2008 में हुई थी। पहले साल सात संस्थानों में इसके जरिए छात्रों को प्रवेश मिला था। अब दिल्ली को छोड़कर सभी नेशनल लॉ यूनिवर्सिटीज में इसी
के जरिए एडमिशन मिलता है। कई अन्य संस्थान भी क्लैट स्कोर के आधार पर छात्रों को प्रवेश देते हैं। 2015 में करीब 45 हजार छात्र इसमें शामिल हुए थे।
ये कोर्स हैं अवेलेबल
फाइव ईयर इंटीग्रेटेड कोर्स
बीए-एलएलबी
बीएससी-एलएलबी
बीबीए-एलएलबी
बीएसडब्ल्यू एलएलबी
बीकॉम एलएलबी
बीएएलएलबी का कोर्स अधिकतर एनएलयू
परीक्षा पैटर्न
यूजी कोर्स के एंट्रेंस में कुल 200 सवाल आते हैं। जिसमें से 40 सवाल रीजनिंग के सवाल, लीगल एप्टीटयूट के 50 सवाल, इंग्लिश एंड कांप्रिहेंशन के 40 सवाल, एलीमेंट्री मैथ्मेटिक्स के 20 सवाल और जीके एंडड करंट अफेयरद के 50 सवाल होते हैं। हर गलत सवाल पर .25 की निगेटिव मार्किंग होती है। वहीं, पीजी कोर्स में 150 सवाल होते हैं। जिसमें कांस्टिटयूशनल लॉ, ज्यूरिस्पडेंस और अन्य लॉ सब्जेक्ट के 50—50 सवाल आते हैं।
इन टॉपिक्स पर दें ज्यादा ध्यान
वॉकेबुलरी बढ़ाना और मजबूत करना बहुत जरूरी है। इसके लिए रोज 10 नये शब्दों को चुनें। रोज की दिनचर्या में उन्हें बोलें और लिख कर याद करें। करेंट अवेयरनेस और इंग्लिश, दोनों के लिए अंग्रेजी का एक राष्ट्रीय अखबार और एक अंग्रेजी पत्रिका नियमित तौर पर पढ़ें। जनरल नॉलेज की तैयारी के लिए 10वीं स्तर की भूगोल, इतिहास, नागरिकशास्त्र और विज्ञान की किताबें पढ़ें। परीक्षा में निगेटिव मार्किंग होने के कारण छात्रों को सटीक उत्तर देने पर जोर देना चाहिए, क्योंकि गलत उत्तर पर एक चौथाई अंक के कटने से आपकी रैंकिंग नीचे जा सकती है।
किताबें जो करेंगी मदद
वर्ल्ड पावर मेड इजी -नॉमैन लेविस
इंग्लिश इज इजी -चेतनानंद सिंह
एनालिटिकल रीजनिंग -एमके पांडे
वर्बल रीजनिंग -आरएस अग्रवाल
ऑब्जेक्टिव अर्थमैटिक-आरएस अग्रवाल
क्लैट को अब कुल 17 एनएलयू ने स्वीकार किया है। इनके अलावा तीन अन्य संस्थान भी हैं जो इसके जरिए एडमिशन देते हैं-
नेशनल लॉ स्कूल ऑफ इंडिया यूनिवर्सिटी, बेंगलुरू (एनएलएसआइयू)
नेशनल एकेडमी ऑफ लीगल स्टडी एंड रिसर्च (एनएएलएसएआर) यूनिर्वसटिी ऑफ लॉ, हैदराबाद
नेशनल लॉ इंस्टीट्यूट यूनिवर्सिटी, भोपाल (एनएलआइयू)
द वेस्ट बंगाल नेशनल यूनिर्वसटिी ऑफ जूरिडिकल साइंसेस, कोलकाता (डब्ल्यूएनयूजेएस)
नेशनल लॉ यूनिर्वसटिी, जोधपुर (एनएलयूजे)
हिदायतुल्ला नेशनल लॉ यूनिर्वसटिी, रायपुर (एचएनएलयू)
गुजरात नेशनल लॉ यूनिर्वसटिी, गांधीनगर (जीएनएलयू)
डॉ. राम मनोहर लोहिया नेशनल लॉ यूनिर्वसटिी, लखनऊ (आरएमएलएनएलयू)

By

Readers Comments (0)


Comments are closed.

Latest Articles