Filed Under:  LATEST NEWS

हेल्थ के दृष्टिकोण से तो आपको रोजाना नंगे पैर चलना चाहिए

16th September 2016   ·   0 Comments

हेल्थ के दृष्टिकोण से तो आपको रोजाना नंगे पैर चलना चाहिए और अगर आप
रोजाना वॉक पर भी जाते हैं तो सिर्फ पैरों में जूते या चप्पल नहीं पहनना
है।

हेल्थ के दृष्टिकोण से तो आपको रोजाना नंगे पैर चलना चाहिए और अगर आप रोजाना वॉक पर भी जाते हैं तो सिर्फ पैरों में जूते या चप्पल नहीं पहनना है। इसी से आपको इतने स्वास्थ्य से जुड़े फायदे मिल सकते हैं कि आप कम से कम डॉक्टर के पास जाएंगे। ये छोटे-छोटे फायदे आपको चुस्त-दुरुस्त और हमेशा स्वस्थ रहने में मदद करेंगे। नींद नहीं आती तो करें ये उपाय सिर दर्द और नींद नहीं आने की शिकायत करने वाले लोगों के लिए भी यह एक कारगर व्यायाम है। पैदल चलने से आपका ब्लड सर्कुलेशन सही रहता है और पूरा शरीर रिलेक्स होता है। यही चीज आपकी नींद नहीं आने की समस्या का हल भी है। इसके अलावा इससे मोटापा भी कम होता है या यूं कहें कि मोटापे पर नियंत्रण आता है। तनाव रहित रहना है तो करें नंगे पैर वॉक ये तनाव को भी कम करता है। जब आप नंगे पैर घास पर चलते हैं तो इससे दिमाग शांत होता है और तनाव दूर होता है।नंगे
पैर पैदल चलते वक्त,आपके पंजों का निचला भाग सीधे धरती के संपर्क में आता
है, जिससे एक्युप्रेशर के जरिए सभी भागों की एक्सरसाईज होती है, और कई तरह
की बीमारियों से निजात मिलती है। नंगे पैर पैदल चलने से वे सारी
मांसपेशियां सक्रिय हो जाती है, जिनका उपयोग जूते-चप्पल पहनने के दौरान
नहीं होता। मतलब आपके पैरों के अलावा, उससे जुड़े सभी शारीरिक भाग सक्रिय हो
जाते हैं।
दर्द से दिलाता है राहत
नंगे पैर जमीन पर चलने से आपका खड़े होना का पोजीशन सही होगा क्योंकि जमीन पर पैर रखते ही दिमाग सक्रिय हो जाता है और सही से चलना शुरु कर देते हैं। इससे कमर के बहुत सारे दर्द भी सही होते हैं। पैरों के दर्द को दूर करना है तो रोज थोड़ा समय नंगे पैर चलें। जैसे-जैसे आप चलना शुरु करेंगे वैसे ही पैरों के सभी पुराने दर्द खत्म हो जाएंगे। सभी इंद्रियों का होता है संतुलन दिनभर जूते-चप्पल पहनकर आप चलने में जरूर संतुलन बनाए रखते हैं, परंतु नंगे पैर चलना आपके शरीर की सभी इंद्रियों के संतुलन की प्राकृतिक चेतना को बरकरार रखने में मदद करता है। 6 नंगे पैर चलने से शरीर में प्राकृतिक रूप से उर्जा बनी रहती है, और इससे शरीर के अंग अधिक सक्रिय, सुडौल व उपयोगी बनते हैं। प्राकृतिक तौर पर धरती की उर्जा पैरों के जरिए आपके पूरे शरीर में संचारित होती है, जो आपके स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद है। बोन्स मजबूत तो शरीर चंगा इस प्रयोग से उर्जा का स्तर बढ़ने के साथ ही, तनाव, हाईपरटेंशन, जोड़ों में दर्द, नींद न आना, हृदय संबंधी समस्या, ऑथ्राईटिस, अस्थमा, ऑस्टियोपोरोसिस की समस्याएं भी समाप्त होती है, और रोगप्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है।

By

Readers Comments (0)


Comments are closed.

Latest Articles