Filed Under:  Sports

गोल्डन टैंपल पर नहीं होगी दीपमाला, गायब हुए सिख श्रद्धालु

10th November 2015   ·   0 Comments

 

चंडीगढ़। पंजाब में धार्मिक ग्रंथों की बेअदबी के चलते इस बार दीपवली के अवसर पर बाजारों से सिख श्रद्धालु गायब हैं। सिखों की सर्वोच्च संस्था शिरोमणि गुरूद्वार प्रबंधक कमेटी ने रोष स्वरूप सिखों को दीपावली पर दीए न जलाने का संदेश दिया है। यही नहीं इस बार अमृतसर स्थित दरबार साहिब में भी दीपमाला नहीं होगी।

अमृतसर के गोल्डन टैंपल की दीपावली भारत ही नहीं बल्कि विदेशों में भी प्रसिद्ध है। पंजाब में पिछले कई दिनों से धार्मिक ग्रंथों के बेअदबी के चलते मंगलवार को सूबे के बाजारों में ग्राहक तो दिखाई दिए लेकिन पहले के मुकाबले उनमें सिख श्रद्धालुओं की संख्या बहुत कम रही। सोमवार को लुधियाना में कथित तौर पर हिंदुओं के धार्मिक ग्रंथ गीता के पन्ने फाड़े जाने की घटना से इस बार हिंदु भी क्षुब्ध हैं। जिसका असर राज्य में दीपावली के त्यौहार पर दिखाई दे रहा है।

अमृतसर, लुधियाना, जालंधर, मोहाली, पटियाला आदि शहरों में बातचीत करने पर पता चला कि इस बार सिख समुदाय के लोग रोष स्वरूप दीपावली नहीं मना रहे हैं। अमृतसर के अलावा पंजाब के अन्य शहरों स्थित धार्मिक गुरूद्वारों में भी दीपावली के अवसर पर कोई धार्मिक आयोजन नहीं किया गया। आज किसी भी गुरूद्वारे में दीपमाला नहीं की गई। पंजाब के कई शहरों में पैरा मिल्ट्री की टुकडिय़ा गश्त पर हैं।

By

Readers Comments (0)


Comments are closed.

Latest Articles