Filed Under:  Main Menu

नीतीश मंत्रिमंडल का विस्तार, भाजपा को जगह नही

2nd June 2019   ·   0 Comments

  1. अशोक चौधरी
    बिहार कांग्रेस के अध्यक्ष रह चुके हैं। 25 साल कांग्रेस में रहने के बाद 2018 में पार्टी छोड़ जदयू में शामिल हो गए थे। जदयू विधान परिषद के सदस्य हैं और नीतीश कैबिनेट में शिक्षा मंत्री रह चुके हैं।
  2. रामसेवक सिंह
    हथुआ विधानसभा सीट से जदयू विधायक हैं।
  3. नरेंद्र नारायण यादव
    मधेपुरा के आलमनगर विधानसभा सीट से विधायक हैं। नीतीश कैबिनेट में पहले भी मंत्री रह चुके हैं।
  4. संजय झा
    जदयू के राष्ट्रीय महासचिव हैं। हाल ही एमएलसी चुने गए।
  5. श्याम रजक
    फुलवारीशरीफ से जदयू विधायक हैं। 1974 के जेपी आंदोलन से राजनीति में सक्रिय।
  6. बीमा भारती
    पूर्णिया के रुपौली से जदयू की विधायक हैं। नीतीश के पहले कार्यकाल में भी मंत्री रह चुकी हैं।
  7. लक्ष्मेश्वर राय
    मधुबनी के लौकहा से जदयू विधायक हैं। छात्र आंदोलन में कई बार जेल जा चुके हैं।
  8. नीरज कुमार
    2008 से जदयू की तरफ से विधानपरिषद पहुंचे थे। 2009 से जदयू के राज्य स्तरीय प्रवक्ता हैं। पहली बार बिहार मंत्रिमंडल में जगह मिली है।


पटना. बिहार में एनडीए के साथ गठबंधन के बाद रविवार को पहली बार नीतीश कुमार के मंत्रिमंडल का विस्तार हुआ। राज्यपाल लालजी टंडन ने 8 नए मंत्रियों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। मंत्री परिषद में शामिल होने वाले सभी नेता जदयू के हैं। कैबिनेट विस्तार में भाजपा विधायकों को जगह नहीं मिली।
 
इन नेताओं को कैबिनेट में मिली जगह

By

Readers Comments (0)


Comments are closed.

Latest Articles