Filed Under:  Main Menu

बौखलाए पाकिस्तान ने अब राजस्थान में बॉर्डर पर अपनी ही सीमा में दागे बम, मचा हड़कंप |

24th February 2019   ·   0 Comments

भारत-पाक अंतरराष्ट्रीय सीमा पर जीरो लाइन के पार पाकिस्तान की ओर से अपनी ही सीमा में बम दागे गए हैं। तेज हवाई धमाकों की आवाज से हड़कंप मच गया।
श्रीगंगानगर। भारत-पाक अंतरराष्ट्रीय सीमा पर जीरो लाइन के पार पाकिस्तान की गुलनजीम और हासिमखान चौकी पर 3-4 किलोमीटर पीछे पाकिस्तान की ओर से अपनी ही सीमा में बम दागे गए हैं। तेज हवाई धमाकों की आवाज से हड़कंप मच गया।
बताया जा रहा है कि सरहद पर दो बार धमाकों की आवाजें सुनाई दी, जिसके बाद लोग घरों से बाहर निकल आए। सूचना मिलने के बाद सीमा सुरक्षा बल के अधिकारी रायसिंहनगर बॉर्डर पहुंचे और हालातों का जायजा लिया। बीएसएफ ने भी धमाको की पुष्टि की है। ग्रामीणों के अनुसार, तड़के ढाई बजे वायुयान की तेज गरजना सुनी गई। इसके तुरंत बाद बेहद तेज धमाके हुए, धमाकों के बाद इलाके में दहशत फैल गई। लोग अनहोनी की आशंका के चलते बच्चों सहित घरों से बाहर आ गए।
इससे पहले अंतरराष्ट्रीय सीमा पर सीमा सुरक्षा बल की हिन्दुमलकोट सीमा चौकी के सामने शनिवार को पाकिस्तान की ओर से फायरिंग के बाद सीमावर्ती गांवों में दहशत फैल गई। फायरिंग उस वक्त की गई जब जीरो लाइन से अंदर की तरफ ग्रामीण अपनी फसलें देखने गए थे। बीएसएफ ने इसे पाकिस्तानी शिकारियों की हरकत बताया है। उधरकलक्टर शिवप्रसाद मदन ने आपात बैठक बुला कर घटना की समीक्षा की
घुसपैठ रोकने के लिए भारत को जीरो लाइन से डेढ़ सौ मीटर इधर अपने क्षेत्र में तारबंदी करनी पड़ी। जिससे सीमावर्ती गांवों के किसानों की कृषि भूमि तारबंदी के उस पार रह गई। उस पर कृषि कार्य के लिए किसानों को बीएसएफ की अनुमति लेकर जाना पड़ता है। किसान चाहते हैं कि तारबंदी के पार उनकी जमीन भारत सरकार ले और बदले में जमीन या मुआवजा दे।
गाड़ी में आए, फायर कर चले गए: हरदेव
घटना के प्रत्यक्षदर्शी हिन्दुमलकोट के किसान हरदेवसिंह उर्फ जोगासिंह ने बताया कि वह एक अन्य किसान के साथ उस पार अपने खेत में सिंचाई के लिए गए थे। उनके साथ दो बीएसएफ जवान भी थे। तभी पाकिस्तानी क्षेत्र में बॉर्डर पिलर नंबर 278 के पास जीरो लाइन पर एक गाड़ी रुकी और एक व्यक्ति ने फायरिंग की। हम सिंचाई के लिए बने नाले में लेट गए। फायर करने के बाद वे चले गए। किसान ने कहा, हमें निशाना बनाकर फायर किया। वहीं, बीएसएफ व पुलिस ने इससे इनकार किया है।

By

Readers Comments (0)


Comments are closed.

Latest Articles