Filed Under:  Main Menu

महबूबा ने फिर की इमरान की तरफदारी

20th February 2019   ·   0 Comments

जम्मू कश्मीर की पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती लगातार भारत सरकार के फैसले के खिलाफ बोल रही हैं। पहले पाकिस्तान से बातचीत की नसीहत देकर विवादों में आ चुकीं महबूबा एकबार फिर इमरान खान की भाषा बोल रही हैं। बुधवार को जब भारत ने साफ कर दिया कि वे इमरान खान के कहने पर पुलवामा हमले का सबूत पाकिस्तान को नहीं सौंपेगा, तो पाकिस्तान के लिए हमदर्दी दिखाते हुए महबूबा ने भारत सरकार के फैसले के विपरित कहा कि भारत को सबूत सौंपने चाहिए। महबूबा मुफ्ती ने कहा- यह सच है कि भारत की ओर से पठानकोट हमले और मुंबई हमले का सबूत पाकिस्तान को सौंपा गया था, लेकिन उनकी ओर से कोई कार्रवाई नहीं हुई थी, लेकिन इमरान खान एक नए पीएम हैं। वह रिश्तों में एक नई शुरुआत की बात कर रहे हैं, इसलिए उन्हें मौका दिया जाना चाहिए। हमें पुलवामा हमले का सबूत देना चाहिए और देखना चाहिए कि वे क्या करते हैं।

सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस ने पुलवामा हमले पर साधी चुप्पी

सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद दिन सलमान इस समय भारत दौरे पर हैं। उनसे उम्मीद की जा रही थी कि वह पुलवामा हमले का जिक्रकर इस पर दुख प्रकट करेंगे। मगर वह इस पर मुद्दे पर चुप्पी साध गए। बुधवार को मीडिया में दिए बयान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रिंस के सामने पुलवामा हमले का जिक्र किया और कहा कि पाकिस्तान की मदद करने वाले देशों को इस पर दबाव डालने की जरूरत है। मगर इस मुद्दे पर प्रिंस ने कोई बयान नहीं दिया। उन्होंने कहा कि आतंकवाद पर वह भारत की हरसंभव मदद करने को तैयार हैं। हम इंटेलिजेंस से लेकर अन्य चीजों तक के लिए साथ देने को तैयार हैं।
परवेज मुशर्रफ ने भारत को दी धमकी

पुलवामा में सीआरपीएफ काफिले पर हुए आत्मघाती हमले की पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ ने निंदा की है। उन्होंने इमरान खान की बात को दोहराते हुए भारत को धमकी दी। मुशर्रफ ने धमकी भरे लहजे में कहा कि मोदी अगर पाकिस्तान पर हमला करते हैं, तो ये उनकी जिंदगी की सबसे बड़ी भूल होगी। एक न्यूज चैनल से बात करते हुए परवेज मुशर्रफ ने कहा कि भारत अब पाकिस्तान को धमकी देना बंद कर दे। वहीं, इमरान खान का बचाव करते हुए कहा कि पुलवामा हमले में जैश का हाथ हो सकता है, लेकिन इसमें इमरान सरकार की कोई भूमिका नहीं थी। मुशर्रफ ने जैश का जिक्र करते हुए कहा कि मेरे दिल में उसके लिए कोई संवेदना नहीं है। उस पर तो पाकिस्तान में भी प्रतिबंध लगा देना चाहिए। जैश-ए-मोहम्मद ने खुद मुझ पर भी हमला करने की कोशिश की थी।

By

Readers Comments (0)


Comments are closed.

Latest Articles