Filed Under:  Main Menu

सर्जिकल स्ट्राइक के डर से पाकिस्तान ने बंद किए आतंकी कैंप, शीतकालीन बंकरों में सेना तैनात |

18th February 2019   ·   0 Comments

लाहौर
पाकिस्तान ने सर्जिकल स्ट्राइक के डर से एलओसी के आसपास स्थित आतंकी कैम्प बंद करने का फैसला किया है। पाकिस्तान ने पाक अधिकृत कश्मीर में स्थित आतंकी कैम्पों को पाक अधिकृत कश्मीर में कहीं अंदर शिफ्ट कर लिया है। यही नहीं, पाकिस्तान ने अपने सैनिकों को शीतकालीन बंकरों में तैनात कर दिया है। पाक मीडिया की खबरों में दावा किया जा रहा है कि भारत पुलमावा हमले के बाद बेहद गुस्से में है, इसको देखते हुए एक और सर्जिकल स्ट्राइक की जा सकती है। बताया जा रहा है कि 50 से 60 शीतकालीन चौकियां जो हर साल खाली हो जाती थीं, वहां अब भी पाक सैनिक तैनात हैं।

बंद किए आतंकी कैम्प
सर्जिकल स्ट्राइक से सहमे पाकिस्तान ने एलओसी के पास से आतंकी शिविर हटा दिए हैं। पुलवामा हमले के बाद भारत के रुख को देखते हुए पाकिस्तान ने यह कदम उठाया है। खबरों में दावा किया जा रहा है कि सर्जिकल स्ट्राइक के डर से पाकिस्तान ने एलओसी के किनारे मौजूद आतंकवादियों के लॉन्च पैड्स को कहीं और शिफ्ट कर दिया है। इन शिविरों में आतंकियों की कोई हलचल देखने को नहीं मिल रही है। बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सुरक्षा बलों को खुली छूट दे दी थी, इसके बाद पाकिस्तान की सेना ने ये उपाय कर लिए हैं। पीएम मोदी ने बीते दिनों कहा था कि सुरक्षा बलों को आगे की कार्रवाई के लिए, समय क्या हो, स्थान क्या हो, ये तय करने के लिए इजाजत दे दी गई है।
बंकरों में सेना तैनात
श्मीर में भारतीय सेना के खुफिया एजेंसियों ने इस बात की पुष्टि की है कि सीमा पर पाकिस्तानी सैनिक शीतकालीन बंकरों में डटे हुए हैं। फिलहाल दोनों पक्षों में तनाव है। आमतौर सीमा पार स्थित चौकियां सर्दियों के मौसम में खाली कर दी जाती हैं। इस बार भी पाकिस्तान ने इन चौकियों को खाली किया था लेकिन पुलवामा हमले के बाद इन चौकियों में जवान वापस आने शुरू हो गए हैं। जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी अपने ठिकाने से सुरक्षा बलों की जवाबी कार्रवाई के डर से आबादी वाले इलाकों के आस-पास के स्थानों पर चले गए हैं। भारतीय सेना एलओसी पर पाकिस्तान सेना की स्थिति बढ़ रही गतिविधियों पर नजर रखे हुए है। सेना लगातार कश्मीर के घटनाक्रम पर रक्षा मंत्री और अन्य वरिष्ठ सरकार के अधिकारियों को ब्रीफ कर रही है।

By

Readers Comments (0)


Comments are closed.

Latest Articles