Filed Under:  TOP NEWS

पुलवामा हमले के बाद सरकार का बड़ा फैसला, 5 अलगाववादी नेताओं से हटाई सुरक्षा |

17th February 2019   ·   0 Comments


सरकार ने बड़ा कदम उठाते हुए अलगाववादी नेता मीरवाइज फारूक समेत हुर्रियत के पांच नेताओं की सुरक्षा वापस ले ली है।”

नई दिल्ली।
जम्मू और कश्मीर के पुलवामा में हुए भीषण आतंकी हमले के बाद सरकार एक्शन मोड़ में आ गई है। यही कारण है कि सरकार ने बड़ा कदम उठाते हुए अलगाववादी नेता मीरवाइज फारूक समेत हुर्रियत के पांच नेताओं की सुरक्षा वापस ले ली है। सरकार ने जिन नेताओं की सुरक्षा हटाने का फैसला लिया है, उनमें अब्दुल गनी बट्ट, बिलाल लोन, हाशमी कुरैशी और शब्बीर शाह शामिल हैं। इसके साथ ही सरकार ने इन नेताओं को मिलने वाली सभी सरकारी सुविधाएं भी छीन ली हैं।

पुलवामा अटैक: जैश सरगना मसूद अजहर का भतीजा है मास्टरमाइंड आतंकी हमले का मास्टरमाइंड

सरकारी खर्च पर कोई सुरक्षा मुहैया नहीं कराई जाएगी
जानकारी के अनुसार आज शाम तक इन नेताओं को मिलीं सभी सुरक्षा और सरकारी सुविधाएं वापस ले ली जाएंगी। वहीं, सरकार की ओर से उठाए गए इस कदम के बाद अब किसी भी अलगाववादी नेता को सरकारी खर्च पर कोई सुरक्षा मुहैया नहीं कराई जाएगी। इसके साथ ही इन नेताओं को राज्य या केन्द्र सरकार की ओर से दी जाने वाली हर तरह की सुविधा या लाभ को भी वापस लिया जाएगा।


5 जवानों ने हॉस्पिटल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया

आपको बता दें कि पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकी हमले में 44 जवानों की जान चली गई, जबकि 5 जवानों ने हॉस्पिटल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। आतंकी हमले में हुई शहादत के बाद पूरे देश में अलगाववादी नेताओं को लेकर भारी रोष है। वहीं, इन नेताओं को मिलने वाली सुरक्षा वापस लेने की मांग उठ रही थी। जानकारी के अनुसार कश्मीर में इन अलगाववादी नेताओं की सुरक्षा पर सरकार हर साल करोड़ों का खर्च करती है।

By

Readers Comments (0)


Comments are closed.

Latest Articles