Filed Under:  RAJASTHAN NEWS

धौलपुर में आगजनी के बाद CM गहलोत का बड़ा बयान, आरक्षण के मुद्दे पर फैसले को लेकर बोले ये बात |

10th February 2019   ·   0 Comments

राजस्थान में रविवार को तीसरे दिन भी गुर्जर आंदोलन जारी रहा। राज्य में कई जगह शुरू होने के साथ ही धौलपुर में आंदोलन ने हिंसक रूप ले लिया। इस दौरान मुख्यमंत्री गहलोत ने धौलपुर में हुई आगजनी की घटना की निंदा कीवहीं गुर्जर आरक्षण आंदोलन पर सरकार निगाह जमाए हुए हैं। दिल्ली से रविवार को जयपुर लौटने के बाद मुख्यमंत्री ने स्टेट हैंगर पर ही अफसरों को बुलाकर धौलपुर में आंदोलन के दौरान हिंसा की जानकारी ली। इसके बाद गहलोत ने कहा कि आंदोलन कर रहे गुर्जर समाज से वार्ता को लेकर सरकार तैयार है।वहीं गहलोत ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि बैंसला जी ने अपील की है कि सभी लोग शांति बनाए रखें। धौलपुर में जो भी हुआ उसमें असामाजिक तत्व शामिल हुए हैं। खाली गुर्जर समाज की बात नहीं थी। खुद कर्नल बैंसला ने शांति बनाने के लिए लिए कहा है तो उनके समर्थक उनकी बात क्यों नहीं मान रहे। प्रशासन मामले को देखेगा की कौन लोग इस घटना में शामिल हुए और घटना क्यों हुई। गुर्जर आंदोलन को लेकर गहलोत ने कहा कि आंदोलन करना अलग बात है लेकिन ट्रैन की पटरियों पर बैठना कानूनी रूप से उचित नहीं है। वार्ता के लिए सरकार के द्वार खुले हैं। सरकार इसके लिए तैयार है और मंत्रिमंडलीय कमेटी बना दी गई है। गहलोत ने कहा कि पहले भी संवाद से ही हल निकला है। अच्छे फैसले हुए और गुर्जर समाज के पक्ष में हुए। हम गुर्जर समाज की भावनाओं का आदर करते हैं।सीएम गहलोत ने कहा कि सरकार वार्ता के लिए पूरी तरह तैयार है मामले में गुर्जरों की भावनाओं को आदर करते हुए फैसलें हो, ये हमारी धारणा है। मुझे विश्वास है की बैंसला जी और उनकी टीम जल्द ही आगे आ जाएगी और जल्द ही वार्ता होगी।आपको बता दें कि गुर्जर समाज के लोगों ने रविवार को आगरा-मुंबई राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 3 पर जाम लगा दिया। जिससे नेशनल हाईवे पर वाहनों की लंबी कतारें लग गईं। सूचना के बाद मौके अतिरिक्त जिला कलेक्टर तथा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पहुंचे।

By

Readers Comments (0)


Comments are closed.

Latest Articles