Filed Under:  TOP NEWS

थायराइड के लक्षण

4th February 2019   ·   0 Comments

शरीर में ऐसे कई बदलाव होते हैं जिनको हम पहले तो हल्के में लेते हैं और बाद में यह हमारी लिए किसी गंभीर रोग का संकेत निकलते हैं, जैसे थाइरॉइड को ही ले लिया जाए। थायरॉइड की समस्या भी कुछ ऐसी ही है। जो सामान्य शारीरिक समस्या से इस गम्भीर बीमारी तक पहुंचा देती हैं और हम इसे समझ पाए तब तक बहुत देर हो चुकी होती है।  अक्सर थाइरॉइड के लक्षणों को हम शुरुआती दौर में भांप ही नहीं पाते हैं और बाद में इसके लक्षणों की अनदेखी हमें हाइपोथाइरॉइड या हाइपरथाइरॉइड की स्थिति तक पहुंचा देती है। थाइरॉइड हमारे शरीर में मौजूद ऐसी ग्रंथि है जो मेटाबॉलिज्म में मदद करती है। इसमें मौजूद हार्मोन टी3, टी4 और टीएसएच का स्तर कम या ज्यादा होने से समस्या होती है। अगर आप इन लक्षणों को महसूस कर रहे हैं तो हो सकता है ये आपके लिए थाइरॉइड की समस्या का संकेत हों

1. थकान
थायराइड की समस्या के उत्पन्न होने पर सबसे पहले व्यक्ति अपने आप को थका हुआ और आलस से भरा हुआ महसूस करने लगता है। वो सुस्त ह जाता है। इसका मुख्य कारण होता है शरीर में ऊर्जा का ना बनना और शरीर में ऊर्जा ना बनने का कारण थायराइड ग्रंथि के हार्मोन ना बनने से होता है।
2. कब्ज 
थायराइड से पीड़ित व्यक्तियों को पाचन तंत्र से जुडी समस्यायें होने लगती है जिसकी वजह से उन्हें खाना पचाने में दिक्कतों का सामना करना पड़ता है और जब खाना नही पचता तो उससे कब्ज की समस्या का उत्पन्न होना निश्चित होता है
3. जोड़ों में दर्द 
थकान के साथ ही थायराइड के रोगियों को जोड़ों जैसे घुटनों, कमर, गर्दन में दर्द रहने लगता है। इन्हें शारीरिक के साथ साथ मानसिक समस्यायें भी उत्पन्न होने लगती है। जिनकी वजह से व्यक्ति तनाव की स्थिति में भी पहुँच जाता है।
4. रूखी त्वचा 
थायराइड से परेशान लोगों की त्वचा के ऊपर वाले सेल्स की कार्य क्षमता कम होने लगती है यानी स्किन डेड होने लगती है। जिसकी वजह से उनकी त्वचा रुखी हुई, सफेद और सुखी शुष्क नजर आने लगती है। इसके साथ ही इनके शरीर पर कुछ निशान भी हो जाते है।
5. जुखाम 
थायराइड का सबसे स्पष्ट लक्षण होता है जुखाम। ये कुछ सामान्य जुखाम नही होता बल्कि थोडा अलग होता है। जिससे व्यक्ति बहुत परेशान होता है और ये जल्दी से ठीक भी नही होता।

6. हेयर फॉल होना
थायराइड के खास सिम्पटम्स में से एक है हेयर फॉल होना। इस रोग में इन्हें गंजेपन तक का खतरा रहता है। इसके अलावा उनके भौहों के बाल तक झड़ने लगते है। ये स्थिति गंभीर अवस्था तक पहुँच जाती है।
7. डिप्रेशन 
क्योकि थायराइड की समस्या के कारण मन में चिंता और तनाव का अहम होता है तो चिंता की वजह से उत्पन्न होने वाले अन्य सबसे बड़े रोग डिप्रेशन का होना भी इसका एक लक्षण होता है। इस स्थिति में व्यक्ति का ना तो किसी कार्य में मन लगता है और ना ही उसका किसी से बाट ही करने का मन करता है। साथ ही दिमाग पर अधिक दबाव डालने से उसकी सोचने समझने और याददाश्त की क्षमता में भी कमी आ जाती है।

8. प्रतिरोधक क्षमता में कमी आना
थायरॉइड समस्या में व्यक्ति के शरीर के वाइट ब्लड सेल्स के कम होने की भी संभावना होती है। जिससे इनके शरीर को अन्य बीमारियों से संक्रमण का भी खतरा बना रहता है। साथ ही इम्यून सिस्टम के कमजोर होने की वजह से इनकी रोगों से लड़ने की क्षमता पर भी प्रभाव पड़ता है।

9. खाना खाने में तकलीफ
थायराइड से पीड़ित व्यक्ति के गले में सुजन होने की वजह से उसे खाना खाते वक़्त गले में दर्द होना शुरू हो जाता है। इस वजह से ऐसे लोग सही तरह खाना नही खा पाते नतीजन पीड़ित का  वजन कम होने लगता है।

10. हाथ पैर ठन्डे होना 
ठन्डे हाथ पैर होने से हमारा मतलब रक्त स्त्राव के कम होने से या शरीर के तापमान के नीचे गिर जाने से बिलकुल नही है बल्कि इस अवस्था में पीड़ित का शरीर का तापमान तो सामान्य व्यक्ति जितना ही रहता है किन्तु फिर भी उसके हाथ पैर ठन्डे पड जाते है।

By

Readers Comments (0)


Comments are closed.

Latest Articles